SC/ST एक्‍ट के विरोध में सांसद के घर का घेराव करने वाले 12 सवर्ण छात्रों पर मुकदमा

220

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के बांदा जिले की नगर कोतवाली में अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एससी-एसटी एक्ट) में हुए नए संशोधन विरोध के दौरान 12 सितम्बर को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद के घर का घेराव करने और वहां चूड़ियां फेंकने पर 12 सवर्ण छात्रों को नामजद करते हुए गंभीर धाराओं में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है. बांदा नगर पुलिस उपाधीक्षक राघवेंद्र सिंह ने शुक्रवार को बताया कि सांसद प्रतिनिधि चंद्रप्रकाश शुक्ला की तहरीर पर नगर कोतवाली में 12 सवर्ण छात्रों को नामजद और कई अज्ञात युवकों के खिलाफ आईपीसी की धारा-147, 452, 352 व 427 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है. इन युवकों पर आरोप है कि अनुसूचित जाति और जनजाति अत्याचार निवारण अधिनियम (एससी-एसटी एक्ट) में हुए नए संशोधन के खिलाफ 12 सितम्बर को बांदा-चित्रकूट से भाजपा सांसद भैरों प्रसाद मिश्रा के बांदा मुख्यालय स्थित आवास में घुस कर घेराव किया और जबरन साड़ी, चूड़ी व बिंदी भेंट किए थे. उन्होंने बताया कि फिलहाल अभी किसी की भी गिरफ्तारी नहीं की गई और जांच चल रही है.                                         केस दर्ज होने के बाद सवर्ण वर्ग खफा: 12 सितम्बर को करणी सेना और सवर्ण एकता मंच के आह्रान पर करीब पांच दर्जन सवर्ण युवक भाजपा सांसद भैरों प्रसाद मिश्रा और सपा से राज्यसभा सांसद विशंभर प्रसाद निशाद के निजी आवासों का घेराव कर विरोध जताया था. भाजपा सांसद द्वारा दर्ज कराई गई प्राथमिकी से यहां सवर्ण वर्ग के कुछ लोग बेहद खफा हो गए हैं और सोशल मीडिया व्हाट्सएप व फेसबुक पर उनकी आलोचना कर रहे हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here