सावन में रहेंगे पांच सोमवार और कई विशेष कल्याणकारी संयोग

1005

सावन मास महादेव का आशीर्वाद पाने का मास है। इन दिनों में शिव आराधना करने से कष्टों का नाश होता है और शिवभक्तों की सभी मनोकामनाएं पूर्ण होती है। इसलिए भोले के भक्त सावन के महीने मॆं शिव को प्रसन्न करने के लिए व्रत, आराधना और पूजापाठ करते हैं। इस साल सावन मास में कई शुभ संयोग बन रहे हैं। इन विशेष योग में शिव आराधना करने से शुभ फलों की प्राप्ति होगी। इस दौरान महादेव से लंबी आयु, अच्छी सेहत और सुखसंपत्ति का वरदान प्राप्त कर सकते हैं।

 shiv_pariwar

पहले सोमवार को करें शिव के साथ श्रीहरी की पूजा

इस बार सावन मास का प्रारंभ 6 जुलाई सोमवार को होगा और समापन 3 अगस्त सोमवार के दिन होगा। सावन मास का प्रारंभ उत्तराषाढ़ा नक्षत्र वैधृति योग, कौलव करण औऱ प्रतिपदा तिथि में होगा। इस दिन बृहस्पति धनु राशि में और चंद्रमा मकर राशि में रहेगा। इसलिए इस सोमवार को शिव पूजा से विशेष फल की प्राप्ति होगी। इस दिन शिव के साथ भगवान विष्णु की पूजा से भी विशेष फल की प्राप्ति होगी। इस साल सावन मास 29 दिनों का रहेगा। इस मास में पांच शिवप्रिय सोमवार और 25 से ज्यादा विशेष योग रहेंगे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here