इंदौरी साहब के निधन पर प्रमुख नेताओ के ट्विट

177

जाने-माने उर्दू शायर राहत इंदौरी नहीं रहे। मंगलवार शाम पांच बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उन्हें कोरोना वायरस था। मध्य प्रदेश के इंदौर स्थित एक अस्पताल में वह भर्ती थे। वहां उन्हें आज दो बार दिल का दौरा पड़ा था, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका।

news-indoreश्री अरबिंदो अस्पताल ने उनके निधन की पुष्टि की है। समाचार एजेंसी ANI को अस्पताल के डॉक्टर विनोद भंडारी ने बताया, “राहत इंदौरी साहब अब नहीं रहे। उन्हें दो दिल के दौरे पड़े थे, पर हम उन्हें नहीं बचा सके। उन्हें कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद रविवार को अस्पताल लाया गया था। उन्हें 60 फीसदी निमोनिया भी था।

ट्विटर से किया शोक प्रकट

रक्षा मंत्री राजनाथ ने लिखा “मक़बूल शायर राहत इंदौरीजी के गुज़र जाने की खबर से मुझे काफ़ी दुख हुआ है। उर्दू अदब की वे क़द्दावर शख़्सियत थे।अपनी यादगार शायरी से उन्होंने एक अमिट छाप लोगों के दिलों पर छोड़ी है।आज साहित्य जगत को बड़ा नुक़सान हुआ है। दुख की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके चाहने वालों के साथ हैं।”

मुख्यमंत्री शिवराज ने लिखा “..राह के पत्थर से बढ़ कर कुछ नहीं हैं मंज़िलें
रास्ते आवाज़ देते हैं सफ़र जारी रखो
एक ही नदी के हैं ये दो किनारे दोस्तों
दोस्ताना ज़िंदगी से मौत से यारी रखो
राहत जी आप यूँ हमें छोड़ कर जाएंगे, सोचा न था। आप जिस दुनिया में भी हों, महफूज़ रहें, सफर जारी रहे।”

“अपनी शायरी से लाखों-करोड़ों दिलों पर राज करने वाले मशहूर शायर, हरदिल अज़ीज़ श्री राहत इंदौरी का निधन मध्यप्रदेश और देश के लिए अपूरणीय क्षति है। मैं ईश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि उनकी आत्मा को शांति दें और उनके परिजनों और चाहने वालों को इस अपार दुःख को सहने की शक्ति दें।”

पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने लिखा “ख्यात शायर, प्रदेश ही नहीं देश की शान राहत इंदौरी साहब के दुःखद निधन का समाचार सुन मैं स्तब्ध हूँ। आज सुबह ही उनके अस्वस्थ होने का समाचार मिला , हम सभी ने दुआ की कि वे जल्द स्वस्थ हो लेकिन वो हमें यूँ अचानक , असमय छोड़ जाएँगे , यह विश्वास नहीं हो रहा है। सामाजिक सद्भाव के वे हमेशा पक्षधर रहे , उन्होंने अपनी बेजोड़ शायरी से इंदौर शहर का नाम देश भर में रोशन किया। अदभुत कला के व्यक्तित्व राहत इंदौरी साहब के निधन पर मै अपनी ओर से परिवार के प्रति संवेदनाएँ व्यक्त करता हूँ। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणो में स्थान व पीछे परिजनो को व उनके लाखों प्रशंसकों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here